Holi – SAMNEY PYALA RAHEY HOLI KE DIN

Jack White

';

सामने प्याला रहे होली के दिन |
कोई न प्यासा रहे होली के दिन ||

जल गई सारी बुराई आग मे |
जो रहे अच्छा रहे होली के दिन ||

रंग का त्यौहार है फ़ीका न हो |
रंग की बरखा रहे होली के दिन ||

आंख भी मिलती रहे उस आंख से |
तीर भी चलता रहे होली के दिन ||

प्यार और उल्फत में कंजूसी न हो |
दिल भी ये दरिया रहे होली के दिन ||

आंख मे मस्ती भरी हो गुफ्तगू मे शहद हो |
हर मज़ा मीठा रहे होली के दिन ||

‘रौनक़’ उनकी शक्ल मैं देखा करूँ |
दिल से दिल मिलता रहे होली के दिन ||

– प्रदीप श्रीवास्तव ” रौनक़ कानपुरी “

Share:
© 2017 Pradeep Srivastava. All Rights Reserved. | By BeeDesigns.in